हमारे बारे में

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मुंबई की स्थापना 1958 में हुई थी और सिविल अभियांत्रिकी विभाग इसकी स्थापना के समय से ही संस्थान का एक अभिन्न अंग रहा है। इस विभाग ने इन्हीं वर्षों में बेहतरीन विकास किया है। अब इसने भारत में एक बृहद सिविल अभियांत्रिकी विभाग के रूप में मान्यता प्राप्त कर ली है। इस विभाग ने देश एवं विदेश दोनों ही जगहों पर भवन एवं निर्माण उद्योग और शैक्षिक एवं अनुसंधान के साथ सुदृढ़ सम्बन्ध विकसित किया है। अवर स्नातक एवं स्नातकोत्तर दोनों ही स्तरों पर उच्च गुणवत्तापूर्ण अध्यापन एवं शिक्षण के अलावा यह विभाग मौलिक एवं अनुप्रयुक्त अनुसंधान और परामर्श में सक्रिय रूप से शामिल है और विभिन्न संगठनों को कई प्रकार की अनुसंधान और विकास परियोजनाओं के माध्यम से उच्च गुणवत्ता के तकनीकी परामर्श देता है। बहुयामी प्रतिभा सम्पन्न संकायों की सहायता से सिविल अभियांत्रिकी विभाग देश तथा विदेश के संरचना उद्योगों और शैक्षिक एवं अनुसंधान संस्थानों से सुदृढ़ सम्बन्ध बनाए रखा है और बनाता ही जा रहा है।

विज़न

सिविल अभियांत्रिकी में नव विचारों एवं नवोद्भावन का मूलस्त्रोत बनाना।

मिशन

सिविल अभियांत्रिकी में विश्व श्रेणी की अवर स्नातक एवं स्नातकोत्तर शिक्षा, अनुसंधान मार्गदर्शन, प्रोफेशनल परामर्शद, बाह्यस्थ कार्य एवं जनबल प्रशिक्षण साथ ही साथ नेतृत्व प्रदान करना।

लक्ष्य

अध्यापन और गुणवत्तापूर्ण अनुसंधान योगदान, श्रेष्ठ परामर्श, बाह्यस्थ कार्य एवं जनबल प्रशिक्षण तथा शैक्षिक नेतृत्व के आधार पर भारत में सर्वोच्चतम श्रेणी के सिविल अभियांत्रिकी संकाय तथा विश्व में श्रेष्ठतम श्रेणी का विभाग होना है।

सम्पर्क करें

विभागाध्यक्ष, सिविल अभियांत्रिकी विभाग,
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुंबई,
पवई, मुंबई - 400 076, भारत.

दूरभाष:+91-22-2576 7301
फैक्स:+91-22-2576 7302
ईमेल (कार्यालयीन विषयक):hod[at]civil.iitb.ac.in
ईमेल (सामान्य पूछताछ):help[at]civil.iitb.ac.in